उधोगों की अवशथति- (location of industries)

उधोगों की अवशथति- (location of industries)

उद्योग हर जगह विकसित नहीं हो पाते। उनकी स्थापना
नो पर की जाती है जहाँ उत्पाद के निर्माण और बिक्री
कम-से-कम लागत आए और ज्यादा-से-ज्यादा मुनाफा
fit) हो। ऐसी स्थिति का चुनाव काफी सोच-विचार के
रात किया जाता है। किसी भी उद्योग की अवस्थिति अनेक
प्रकार के कारकों द्वारा नियंत्रित होती है।
अवस्थिति के कारकों के बारे में आधुनिक सोच-उद्योगों
स्थिति की व्याख्या सापेक्षिक संदर्भ में की जानी चाहिए।
ही कारण है कि आजकल स्थिति के कारकों को भौगोलिक
और गैर-भौगोलिक वर्गों में न बांटकर कारकों को विभिन्न
समुच्चय (Sets) में बांटा जाता है। ये समुच्चय हैं—(1) संसाधनों
को एक जगह इकट्ठा करना अर्थात समुच्चयन (Assembly),
प्रसंस्करण (Processing) तथा वितरण अर्थात बाज़ार से जुड़े
कारक, (ii) सरकारी नीतियाँ, (iii) पर्यावरण, (iv) औद्योगिक
जड़त्व तथा (व) मानवीय कारक।
1. समुच्चय, प्रसंस्करण तथा वितरण के कारक-उद्योगों
की अवस्थिति को प्रभावित करने वाले इस समुच्चय में निम्नलिखित
कारक शामिल हैं--
(1) आर्थिक दूरी-आज किलोमीटरों में दिखाई जाने।
वाली भौतिक दूरी उद्योगों के स्थानीयकरण में ज्यादा महत्त्वपूर्ण
नहीं रही। आज महत्त्वपूर्ण है-आर्थिक दूरी, जिसका अर्थ है कि
कच्चे माल और मशीनों को उद्योग केंद्र तक लाने तथा निर्मित
माल को माँग के क्षेत्र तक ही नहीं, बल्कि उपभोक्ता के घर तक
पहुँचने में कितना पैसा और कितना वक्त लगेगा।
आर्थिक दूरी परिवहन के तीव्र व सक्षम साधनों, माल के
प्रकार तथा भाड़े (किराए) द्वारा निर्धारित होती है। एक उद्योगपति
इस आर्थिक दूरी को कम-से-कम करना चाहता है
 ताकि उत्पादनलागत घटे और बिक्री व मुनाफ़ा बढ़े। अतः आज उद्योगों
की अवस्थिति मल्टी लेन एक्सप्रेस हाईवे, सुपर स्पीड माल गाड़ियों,
शक्तिशाली क्रेनों, फ्लाईओवरों, कंटेनर सुविधाओं, कम ईंधन से
चलने वाले तीव्रगामी सक्षम बड़े-बड़े ट्रकों व विशालकाय आधुनिक
जहाज तथा सुविधा संपन्न बंदरगाहों द्वारा निर्धारित होती है।
यातायात में सुधार समेकित आर्थिक विकास और विनिर्माण
की प्रादेशिक विशिष्टता को बढ़ाता है। उद्योगपति सबसे पहले
परिवहन की इन सुविधाओं का हिसाब लगाता है।
आर्थिक विकास सदा परिवहन के साधनों पर चढ़ कर
आता है। उत्तर-पश्चिमी यूरोप व संयुक्त राज्य अमेरिका के
औद्योगिक विकास में विकसित परिवहन व्यवस्था की भूमिका
किसी से छुपी नहीं है। आज सूचनाओं के आदान-प्रदान एवं
प्रबंधन के लिए संचार के विकसित साधन भी परिवहन के
पूरक साबित हो रहे हैं।

Latest News

Cute Love Shayari For Girlfriend-Boyfriend, Best Love Sms Quotes,Attitube Status. Pyar Bhari Shayari about Love Forever, Love Sms in Hindi for Her & Him. Sad shayri Quotes.